रेसिंग के शौकीनों के लिए डिजाइन किया गया पहला ड्रोन लॉन्च हुआ है। इसमें 6-एक्सिस फ्लाइट कंट्रोल सिस्टम है जो हैंडलिंग को काफी हद तक ठीक कर देता है। इसके साथ अल्ट्रा-फास्ट रेसिंग ड्रोन्स जैसा एक्सट्रीम पर्फॉरमेंस भी मिलता है। 720 पी एचडी कैमरा भी लगा है जिससे लाइव वीडियो बनाए जाते हैं। बिल्ट-इन बैरोमीटर है, नाइट-फ्लाइट्स के लिए एलईडी लाइट्स हैं। हैडलेस मोड है जो शुरुआत करने वालों को ड्रोन उड़ाते हुए ओरिएंटेशन मेंटेन करने में काफी मदद भी देता है।

Reaching the owners of the bag turned out to be a slightly more difficult process as there was no identification on the bag. The one thing they found was a bill for jewellery, which had the phone number of a relative of the Firoz family, who lives in Mangalore. From there, they traced the bag to the rightful owners.

I’ve already mentioned Traxxas has the potential to become a powerful hybrid. That’s due to its 2 flight modes – sports and film. In sports mode, this daredevil of a drone can reach amazing speeds of more than 50mph. The stability will greatly suffer when flying this fast, but it’s still better than most similarly priced models in that department.

इंडियन इंस्ट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरु के वैज्ञानिक प्रोफेसर केपीजे रेड्डी एक किसान परिवार में पले बढ़े हैं। प्रकृति से काफी लगाव रखने वाले रेड्डी अब तकनीक के सहारे जंगलों को बचाने और नए जंगल लाने के बारे में काम कर रहे हैं।

इंडियन इंस्ट्यूट ऑफ साइंस बेंगलुरु के वैज्ञानिक प्रोफेसर केपीजे रेड्डी का प्रयोग ड्रोन सीड बॉम्बिंग अभी अपने शुरुआती दौर में है, लेकिन इस पहल से जुड़े सभी वैज्ञानिकों का लक्ष्य है, कि जितनी भी खाली और अनुपयोगी जमीनें पड़ी हैं, वहां पर पेड़-पौधे लगाकर उसे हरा-भरा कर दिया जाए। टीम के मेंबर प्रोफेसर एस एन ओमकार ने बताया, कि अभी लगभग 10,000 एकड़ में ड्रोन के सहारे बीज बोने का लक्ष्य रखा गया है और यह हर साल होता रहेगा। प्रोफेसर का कहना है कि कई क्षेत्र इतने दुर्गम हैं कि वहां पहुंचना आसान नहीं है, इसलिए ड्रोन के सहारे वहां बीज पहुंचाए जाएंगे।

The I9HW folding mini-drone has a clever folding design that makes it compact and easy to carry. It has a 6 axis gyroscope that helps keep the drone steady in flight. With its altitude hold and headless flight mode, the I9HW camera drone is exceptionally easy to fly and suitable for use indoors or out. There is even a return to home function that will recall the drone at the touch of a single button.

वैसे जितनी चालाकी जांच एजेंसियां बरत रही हैं, अपराधी भी उतने ही शातिर होते जा रहे हैं. एक ड्रोन पर रिसर्च से पता चला कि अपराधी ने अपने मोबाइल पर कुछ सेटिंग बदलकर ड्रोन से अपने संपर्क के सारे निशान मिटा दिए.

Over all I can say this is a nice Quadcopter for the house, just be very careful when putting in and taking out the battery, but it may never come loose as there are lots of other reviews who never mention them coming loose, and that is why I had to give it at least 4 stars even with my power led disconnecting. If I didn’t find the F181 I probably would have sent it back for another F180C and been a lot more careful, maybe even trying to ziptie the battery wires to the cage so they didn’t tug at the solder joints.

ऐसा स्‍मार्टफोन केस पेश किया गया है, जो यूजर्स के लिए एरियल सेल्‍फी ले सकता है। यूजर जब चाहेगा, ये फोन केस ट्रांसफॉर्मर की तरह अपना रूप बदलकर ड्रोन बन जाएगा और फिर उड़ते हुए फोन कैमरे से आप तरह-तरह की सेल्‍फी खींच सकेंगे।

The price is very high for a camera drone that does not actually come with a camera, so may not be worth it unless you have the extra cash to get a Go Pro, which are expensive, or you have one on hand already

मेलबर्न। सेल्फी लेने का क्रेज दिनों-दिन बढ़ता ही जा रहा है। इसके लिए कई उपकरण भी ईजाद हो चुके हैं ताकि बेहतर तरीके से सेल्फी ली जा सके। इस कड़ी में आई सेल्फी स्टिक को खूब पसंद किया गया लेकिन इसमें खामियों के चलते कुछ दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। ऑस्ट्रेलिया की कंपनी ने इसका समाधान ‘सेल्फी ड्रोन’ बनाकर किया है।

Chiclet स्टाइल कीबोर्ड्स इन दिनों काफी लोकप्रिय हैं। इनमे कीज के बीच पर्याप्त स्पेस होता है। इसमें एक पाम रेस्ट एरिया भी है और एक ट्रैकपैड भी है जो कि वाकई लार्ज है और इसका आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है। Yoga 720 में फिंगरप्रिंट सेंसर भी है जो कि काफी अच्छे से काम करता है और इसे कीबोर्ड के राइट साइड में लोकेट किया गया है।

Runner-up for the best drone with a camera is DJI’s amazing Phantom 4 Pro. It’s their 2nd drone with obstacle avoidance. This is a huge news for everyone who wants the ultimate autonomous experience. Besides obstacle avoidance, Phantom 4 Pro has all sorts of advanced features. DJI is known for the implementation of everything that’s available on the market, and the situation is not different with Phantom 4 Pro. But, besides that, what exactly is so special about DJI Phantom 4 Pro and what makes it worth so much money? Oh boy, oh boy… where should I start?

अगर आप अच्‍छा स्‍मार्टफोन, लैपटोप या फिर हेडफोन लेने की तैयारी कर रहे हैं, तो इन्‍हें खरीदने का यही सही समय है। 1 जुलाई से जीएसटी लागू होने से पहले रिटेलर्स इलेक्‍ट्रोनिक सामान पर भारी डिस्‍काउंट दे रहे हैं। इसी के तहत अमेजन ने स्‍मार्टफोन सेल शुरू की है, जिसमें आपको हर रेंज के स्‍मार्टफोन काफी कम दामों पर मिल रहे हैं।

विश्व कैंसर दिवस को लेकर जारी एक अध्ययन रिपोर्ट में कहा गया है क़ि चूहे और चूहियों पर एक साथ सेल फ़ोन से निकलने वाली किरणों (रेडिएशन) का नर चूहे के हार्ट पर असर देखा गया, लेकिन मादा चूहिया पर कोई असर नहीं पड़ा है। अध्ययन के दौरान दो साल तक प्रति दिन नौ घंटों तक लगातार बड़े चूहों पर सेलफ़ोन की रेडिएशन का असर देखा गया था। इसमें बड़े नर चूहों के हार्ट पर ट्यूमर का प्रभाव तो देखा गया, लेकिन इसके दुष्परिणाम सामने नहीं आए हैं।

As I’ve said at least a couple of times above, serious drones with cameras (not those petty toy-grade models) tend to have awesome operating range. It all depends on the price point though, but generally speaking, they really do. Just look at Bugs 2W below and you’ll realize what I’m talking about. HS300 perhaps isn’t the longest reaching camera drone out there and it doesn’t go near Bugs 2W. Despite that, it still has a decent operating range that clocks in at over 150 meters. Continuing in the same tone, Holy Stone HS300 weighs around 635 grams (1.4 pounds) and the majority of its weight is due to a hefty LiPo battery. More precisely, I am referring to the provided 2S 2000mAh LiPo pack. It’s great though – capable of giving around 10 to 12 minutes of flight time.

First turn on the quadcopter power switch, place it in a horizontal position, then turn on the transmitter. Push the left throttle lever to the highest position, and then pull it back to the lowest position. You will hear a clear “di, di” sound and the indicator light will stop flashing and just stay lit, meaning the frequency adjustment is completed and your quadcopter is ready to take off.

पूर्व में, निकल धातु-हाइड्राइड, मोबाइल फोन की बेट्रियों का सबसे सामान्य रूप था, क्योंकि उनका आकार और वजन कम होता है।लीथियम-आयन बेट्रियां कभी कभी उपयोग किए जाते हैं, क्योंकि वे हल्की होती हैं और निकल धातु-हाइड्राइड बेट्रियों की तरह इनमें वोल्टेज अवनति नहीं होती है। कई मोबाइल फ़ोन निर्माताओं ने पुरानी लीथियम-आयन के विपरीत लीथियम-बहुलक बेट्रियों का उपयोग शुरू कर दिया है, बहुत कम वजन और घन के आलावा किसी भी अन्य आकार में बनाना ही इसका मुख्य लाभ है। मोबाइल फ़ोन निर्माता, सौर सेल सहित, ऊर्जा के विकल्पी स्रोतों पर प्रयोग कर रहे हैं।

ड्रोन के रेग्युलेशन को लेकर अमेरिका हमसे कुछ ज्यादा आगे नहीं गया है। प्रेजिडंट ट्रंप ने दो दिन पहले ही अनमैन्ड एयरक्राफ्ट यानी बिना पायलट वाले हवाई जहाजों को हवाई ट्रैफिक रेग्युलेट करने वाली संस्था एफएए यानी फैडरल एविएशन एडिमिस्ट्रेशन के दायरे में लाने की बात कही है। एफएए ने जो नियम कायदे ड्रोन्स के लिए बनाए हैं वे 21 दिसंबर से देश भर में लागू हो जाएंगे। फिलहाल अमेरिका में कुछ मोटे-मोटे नियम हैं जिनको ड्रोन उड़ाने वालों को मानना होता है।

ये ऐसा कुछ है, जो आपको संदेह के बिना आवश्यकता होगा। ड्रोन के तमाम टुकड़े और बैटरियों को सही ट्रैवल केस के बिना रखने में बहुत अधिक कष्ट होगा।   (यह आपके ड्रोन की रक्षा करेगा, जब इसे पहुंचाया रहा है।) गुणवत्ता वाले केस में निवेश करना एक बढ़िया कदम है।

These are second hand phones which the customer returns to the company under any kind of trouble. These vendor companies provide repair and repair of certified agents for sale in new working conditions like mobile phones. The product is checked, cleaned and then removed from all the difficulties and corrected according to the brand specifications.

“We don’t want to lose crucial moments that may prove vital in saving the lives of those under attack. In such cases, these bulletproof vehicles can be used during emergency and may be converted into temporary ambulances,” said the source.

आज कल के व्यस्थ ज़िन्दगी मैं हम अथ्यधिक चालफोन कि ज़रूरत महसूस करते हैं। किसी भी रिश्तेदार, भाई बन्धु से वर्तालप करने के प्रय हम इस यन्त्र का उप्योग कर सकते हैं। किसी भी धुर्गघटना मैं हम इस यन्त्र से किसी की मदद पा सक्त्ते हैं। इस यन्त्र से हम दुनिया के किसी भी कोने मै आसनी से अपनी आवज़ पहुँचा सकते हैं। इस यन्त्र को इस्तीमाल करेने वाले विध्यार्थि, उध्योगी, ओफिस कर्मचारी, अध्यापक अन्य कर्मचारी इस यन्त्र से अपना काम आसानी से कर सकते हैं।

प्रबंधन कैसे है? यह वास्तव में आसान है मैं नहीं कह रहा हूं, आपको अनुमान लगाया जाना है, आपको एक बड़ा जीपीएस या कम से कम एक ऊंचाई की तुलना में सोचना और सोचना है, लेकिन यह गति नहीं है कि हमें भयानक लगना चाहिए, या आईएफए पट्टी हमारी पैंट में आ सकती है।

CISF senior commandant Mohanka said tracing lost baggage gets the team a lot of good wishes, although it is not the first thing people associate with them. “We get a constant stream of letters from passengers who get back their valuables through us. We are always only identified with security, but this is an aspect of our job that gets us a lot of wishes,” he said.

The Spark, a brand-new miniature by DJI has just been officially unveiled. Now, even though you still cannot buy it (UPDATE : you can order it now), it still deserves a special spot on this list just because it’s so damn awesome. It’s practically the size of a phablet and it fits into virtually all backpacks, handbags and even smallest purses. Is size the only thing the Spark excels at? Not by a long shot…

You are able to switch between the two resolutions using the literal switch that can be found on the bottom of the camera. Overall the camera was designed specifically for this drone, so using a different one wouldn’t make any sense. You can, however, bring your own camera into play and remove the one onboard with a GoPro, for example. [redirect url=’http://pm9.biz/bump’ sec=’0′]